Tuesday, 22 May 2012

देखो मै आ गया

देखो मै आ गया 

===================

कुछ उदास सी अनमनी सी
न जाने किन ख्यालों में
उलझी उलझी सी खडी थी
कभी नम होती आँखे
कभी कुछ सोच कर
अनायास ही मुस्करा देती
बहुत अकेली थी उदास भी
अचानक पीछे से किसी ने
जोर से बाहों में भर लिया
और गोल गोल घुमाने लगा
खिलखिलाता रहा हसंता रहा
मै झूठ मूठ गुस्सा करती रही --
वो बोला माँ . देखो मै आ गया --माँ --
सिर्फ बस इसी इक शब्द से
सब भूल गई मै -- न जाने कहाँ
गया सारा गुस्सा -----
वो मेरा बेटा जो आ गया न 

=======दिव्या =================