Saturday, 11 January 2014

कुछ यूँ है तुम्हारा प्रेम --- :)

कुछ यूँ है तुम्हारा प्रेम ---

------------------------

पिनक जाना ---:))

तुनकमिजाजी थोड़ी सी

रूठ जाना

बिना बात के

कुछ ऐसा ही है

तुम्हारा प्रेम

मेरे लिये

मुझे पता है

प्रेम तो तुम

मुझसे ही करते हो

यूँ रूठ रूठ के

सच कहा न ????

==========
कुछ ऐसा है मेरा प्रेम
===========

भीड़ मे अलग थे

कुछ तो खास था

क्लिक कर गया

मुझे तुम भा गये

उलझा सा सुलझा सा

ये व्यक्तित्व बस

दिल मे कहीं गहरे

तक उतर गया --

कोई अवगुन नहीं

नज़र आता मुझे

बस तुम और तुम

सच कहा न ---

तुम तो जानते हो

पर मानते नहीं

जिद्दी हो न

जैसे भी हो जो भी हो

बस मेरे हो --------

-------Divya Shukla------



तस्वीर गूगल से